जब कोई युद्ध नहीं तो सीमा पर क्यों हो रहे सेना के जवान शहीद- मोहन भगवत

January 18th, 2019 | POLITICS

जब कोई युद्ध नहीं तो सीमा पर क्यों हो रहे सेना के जवान शहीद- मोहन भगवत

प्रयागराज में आयोजित कुंभ मेले में आस्था के नाम पर डुबकी लगाने पहुंचे नेताओं का राजनीतिक रंग वहां भी नहीं उतरा। कुंभ मेले से RSS के सरकार्यवाह भैयाजी जोशी ने पीएम मोदी पर जमकर निशानेबाजी की और पीएम पर कई आरोप लगाए और सवालों के जवाब भी मांगे। वहीं सरसंघचालक मोहन भागवत ने भी सरकार को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

भागवत ने आगे कहा, “युद्ध के दौरान सैनिकों की शहादत होती है, लेकिन जब इस वक्त हमारे देश में कोई युद्ध नहीं हो रहा है और फिर भी सेना के जवान शहीद हो रहे हैं। इसका मतलब ये है कि हम अपना काम सही ढंग से नहीं कर रहे हैं। अगर कोई युद्ध नहीं है तो कोई कारण नहीं है कि कोई सैनिक सीमा पर अपनी जान गंवाए, लेकिन ऐसा हो रहा है।

ये भी पढ़ें : 69000 UP सहायक शिक्षक भर्ती 2018 के परिणाम पर कोर्ट ने लगाई 21 जनवरी तक रोक

RSS प्रमुख मोहन भागवत ने कहा, जब देश को अंग्रेजों से आजादी नहीं मिली थी, तो उस दौरान वतन की स्वतंत्रता के लिए जान कुर्बान करने का दौर था। या फिर आजादी के बाद अगर कोई युद्ध हुआ या होता है, तो वहां भी सीमा पर दुश्मनों से लड़ते हुए सैनिक अपनी जान की बाजी लगाते रहेंगे। सेना के जवान देश की सुरक्षा के लिए अपना सबकुछ कुर्बान कर देते हैं।

ये भी पढ़ें : IRCTC ने बदले नियम, अब ई-टिकट बुक करना होगा मुश्किल

आपको बता दें कि मोदी सरकार के शुरुआती तीन सालों के दैरान मई, 2014 से मई, 2017 तक सिर्फ जम्मू कश्मीर में 812 आतंकवादी घटनाएं हुईं है। इन घटनाओं में 62 नागरिक मारे गए, जबकि 183 जवानों की शहादत हुई। अब मोहन भागवत का यह बयान मोदी सरकार के लिए नई बहस शुरू कर सकता है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें और यूट्यूब पर सब्सक्राइब करें…

Subscribe

Like this News, become a Newsinvestigator Reporter with a Click and make your voice heard.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Categories

Bollywood Crime Politics Lucknow Zyaka Other