बसपा सुप्रीमों कल प्रत्याशियों की लिस्ट जारी कर खोलेंगी अपने 'तुरुप का इक्का', ये नाम हो सकते हैं शामिल

March 12th, 2019 | POLITICS

बसपा सुप्रीमों कल प्रत्याशियों की लिस्ट जारी कर खोलेंगी अपने 'तुरुप का इक्का', ये नाम हो सकते हैं शामिल

सपा की कुछ सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा के बाद बसपा सुप्रीमों मायावती बुधवार को लोकसभा चुनाव के लिए अपने प्रत्याशियों के नाम की घोषणा करेंगी. वहीं समाजवादी पार्टी भी शेष बची प्रत्याशियों की घोषणा उसके बाद करेगी. सपा और बसपा के बीच हुए गठबंधन के मुताबिक बसपा के खाते में ज्यादातर सीटें पश्चिमी यूपी की हैं. कयास लगाए जा रहे हैं की बसपा सुप्रीमों बसपा के लिए अपने 'तुरुप का इक्का' यहां खोल सबको चौका सकती हैं.  

राजनितिक विशेषज्ञों की माने तो यूपी में सपा-बसपा गठबंधन लोकसभा चुनावों में नए समीकरण रच सकता हैं. बसपा इस गठबंधन में मुख्य भूमिका में नज़र आएगी. यूपी की पश्चिम लोकसभा की सीटों पर बसपा का ब्राह्मण-मुस्लिम-दलित गठबंधन पर जोर होगा. रविवार को चुनाव की तारीखों की घोषणा के बाद से आचार संहिता लागू हो गयी है. यूपी में पहले चरण की चुनावी प्रक्रिया 18 मार्च से शुरू हो रही है. इसके मद्देनज़र बसपा को भी अपने प्रत्याशियों की औपचारिक घोषणा जल्द करनी होगी

सपा-बसपा गठबंधन में बसपा यूपी की मात्रा 38 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. जबकि 37 पर सपा और तीन पर रालोद चुनाव लड़ रही है. दो सीटें अमेठी और रायबरेली पर सपा और बसपा ने प्रत्याशी नहीं लड़ाने का फैसला किया है. गठबंधन होने के बाद बसपा नेतृत्व करीब 12 से ज्यादा सीटों पर अपने प्रत्याशियों को बतौर प्रभारी घोषित किया है, मगर औपचारिक रूप से बसपा ने अपने प्रत्याशियों की घोषणा नहीं की है. अब चूंकि चुनाव की घोषणा हो चुकी है, ऐसे में पार्टी को अपने प्रत्याशियों की जल्द ही घोषणा करनी होगी. वहीं बता दें की बसपा सुप्रीमो मायावती लखनऊ में ही हैं और कल प्रत्याशियों की औपचारिक घोषणा कर सकती हैं. 

बसपा सुप्रीमो इस बार लोकसभा सीटों पर जातीय आंकड़ों के मद्देनजर सभी वर्गों को टिकट में भागीदारी दे सकती हैं. उनका मेन फोकस अपने खाते की सीटों में ब्राह्मणों के साथ ही मुस्लिम समुदाय पर भी होगा. इनके अलावा अपने खाते की सुरक्षित सीटों पर पार्टी इसी समुदाय के प्रत्याशी तो उतारेगी ही साथ ही अति पिछड़े वर्ग को साधने के लिए प्रत्याशियों का चयन हो सकता है.

ये हो सकते हैं बसपा के प्रत्याशी -

सलेमपुर से बसपा के प्रदेश अध्यक्ष आरएस कुशवाहा, देवरिया से लोकसभा प्रभारी विनोद जायसवाल, सीतापुर से नकुल दुबे जो बसपा सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं. बासगांव से पूर्व विधायक दूधराम चौधरी, संतकबीरनगर भीष्म शंकर उर्फ कुशल तिवारी, बस्ती पूर्व मंत्री राम प्रसाद चौधरी, डुमरियागंज आफताब आलम और मोहनलालगंज से सीएल वर्मा ये पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी की निजी सचिव रहे हैं. गौतमबुद्ध नगर से सतवीर गुर्जर, मेरठ-याकूब कुरैशी, बुलंदशहर-योगेश वर्मा,  मिश्रिख-नीलू सत्यार्थी, धौरहरा-अरशद सिद्दीकी, अकबरपुर-निशा सचान, फर्रुखाबाद-मनोज अग्रवाल, अलीगढ़-अजीत बालियान, अमरोहा-मलूक नागर और सुल्तानपुर से राकेश पांडेय इनके नामों पर मुहर लग सकती है.

सूबे की 80 लोकसभा सीटों में अनुसूचित जाति के सुरक्षित 17 सीटों में से 7 पर सपा चुनाव लड़ेगी तो 10 पर बसपा अपनी किस्मत आजमाएगी.

वो सीटें जिसपर बसपा चुनाव लड़ रही है...

वो सीटें जिसपर सपा चुनाव लड़ रही है...

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें और यूट्यूब पर सब्सक्राइब करें…

Subscribe

Like this News, become a Newsinvestigator Reporter with a Click and make your voice heard.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Categories

Bollywood Crime Politics Lucknow Zyaka Other