मल त्याग करते हुए आपको भी होता है बहुत दर्द, तो आजमाइए ये घरेलू उपाय, फिर मिलेगी राहत

stool pain remedy : मल त्याग करते वक्त दर्द होना चिंता की वजह है. स्थिति खराब होने से पहले ही कुछ घरेलू उपाय कर आप इस मुश्किल से निपटने की कोशिश कर सकते हैं.

Home remedy for stool : रोज सुबह टॉयलेट से पहले आपको भी दर्द होने का डर सताता है तो समझिए आप किसी समस्या के शिकार हैं. इसकी वजह से कभी-कभी मोशन के दौरान खून भी आ सकता है. बाउल मूवमेंट के समय खून आना सामान्य नहीं है. इसका असर शरीर के अंगों पर भी पड़ सकता है. ऐसा आपके साथ लगातार होता है तो ये चिंता का विषय है. स्थिति खराब होने से पहले ही कुछ घरेलू उपाय कर आप इस मुश्किल से निपटने की कोशिश कर सकते हैं.

एक टब में गर्म पानी डालकर उसमें करीब 20 मिनट तक बैठें. पानी इतना गर्म रखें जितना आप सहन कर सकें. पानी की गर्मी से एनल एरिया की सिकाई होती है और बाउल मूवमेंट थोड़े आसान हो जाते हैं. इसे सिट्ज बाथ भी कहा जाता है. जिसके लिए अलग से टब भी आता है. अगर ये टब नहीं है तो एप्सम सॉल्ट पानी में डालकर नहाएं. नारियल तेल एक नेचुरल मॉइश्चराइजर है. इस समस्या में भी ये राहत दे सकता है. एक रूई में नारियल तेल लेकर उसे एनस में अप्लाई करें. इससे जलन और रेडनेस से राहत मिलेगी.

एलोवेरा में भी एंटी इंफ्लेमेटरी क्वालिटी होती हैं जो दर्द और जलन में आराम पहुंचा सकती हैं. एक रुई में एलोवेरा जेल लेकर दर्द वाले एरिया में लगाएं. दर्द से राहत पाने के लिए एनस के आसपास बर्फ लगाएं. एक कपड़े में बर्फ को अच्छे से लपेटें और उससे सिकाई करें. इससे राहत मिले तो हर घंटे इस प्रक्रिया को दोहरा सकते हैं. ये ध्यान रखें कि बर्फ की वजह से एनस के आसपास की स्किन पर असर पड़ सकता है. इसलिए बर्फ को इतनी परतों में रखें कि वो ठंडक तो दे लेकिन लगातार स्किन के टच में न रहे.