क्या हार के इतिहास को बदल पाएगी टीम इंडिया?

February, 12th 2018 |Other

क्या हार के इतिहास को बदल पाएगी टीम इंडिया?

साउथ अफ्रीका के खिलाफ पांचवें वनडे मुकाबले के लिए विराट कोहली की टीम पोर्ट एलिजाबेथ पहुंच चुकी है। यह मुकाबला 13 फरवरी को पोर्ट एलिजाबेथ के सेंट जॉर्ज पार्क ग्राउंड में खेला जाएगा। इस मैदान पर टीम इंडिया की नजर सीरीज को जीतने पर होंगी लेकिन आकड़ों को देखा जाए तो यह मैदान भारतीय टीम के लिए मनहूस रहा है। भारतीय टीम इस मैदान पर 25 सालों में एक भी मैच नहीं जीत सकी है। यहां तक कि इस मैदान पर भारतीय टीम को कीनिया जैसे टीम के आगे भी हार का सामना करना पड़ा था।

अगर आकड़ों के तरफ नजर डाले तो दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच इस मैदान पर अब तक 4 मुकाबले खेले गए हैं। चरों बार भारत को हार का सामना करना पड़ा। साल 2001 के कीनिया ने भारत को इसी मैदान पर 70 रनों से हराया था। आकड़ों के हिसाब से तो इस मैदान पर शत प्रतिशत हार का रिकॉर्ड है। ऐसे में अब देखना होगा कि इस हार के रिकॉर्ड को तोड़ने के लिए कप्तान विराट और कोच रवि शास्त्री जीत के लिए क्या नया हतकंडा अपनाते है।

मेजबान दक्षिण अफ्रीका ने इस मैदान पर 32 वनडे मैच खेले हैं जिसमें से 20 में उसे जीत और 12 में हार का सामना करना पड़ा है। इन 20 जीतों में से 10 रनों का पीछा करते हुए जबकि 10 लक्ष्य का बचाव करते हुए मिली हैं।

भारतीय टीम ने इस मैदान पर पहला मैच 9 दिसंबर 1992 को खेला था। इस मैच में उसे 6 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था। जबकि आखिरी बार भारतीय टीम इस मैदान पर 7 साल पहले साल 2011 में खेली थी। इस मैच में भारत को 48 रन से हार मिली थी।

इस मैदान पर अब तक खेले गए कुल 39 मैचों में से 18 में पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम विजयी रही है जबकि 21 मैचों में रनों का पीछा करने वाली टीम के हाथ जीत लगी है।

इस मैदान पर अबतक खेले गए 39 मैचों में से 21 में पहले क्षेत्ररक्षण करने वाली टीम विजयी रही है जबकि 18 मैचों पर पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम जीती है।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें…

Like this News, become a Newsinvestigator Reporter with a Click and make your voice heard.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Categories