सियासी डिनर में एकजुट हुआ विपक्ष, अभी-अभी बनी 2019 के लिए ‘मोदी बनाम सब’ की रणनीति

March, 13th 2018 |POLITICS

यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी के बुलावे पर मंगलवार को एक बार फिर ‘मोदी बनाम सब’ करने की कोशिश के तहत दो दर्जन से अधिक दलों के नेता डिनर पर पहुंचे। स्वादिष्ट भोज के साथ सियासत साधने की यह कोई पहली कोशिश नहीं है इसके पहले भी सोनिया डिनर डिप्लोमेसी से विरोधी यानी बीजेपी खेमे को चोट पहुंचाती रही हैं। डिनर डिप्लोमेसी का मुख्य लक्ष्य 2019 में होने वाले फाइनल के लिए टीम तैयार करना है।

इस बात पर भी चर्चा होगी कि इस टीम का कप्तान कौन होगा, हालांकि सोनिया की कोशिश रहेगी की 2019 तक यूपीए की कमान खुद पकड़ी रहें। कारण यह है कि बहुत से घटक दलों को राहुल की अगुवाई अभी भी पच नहीं रही है। फिलहाल सोनिया के घर चल रही इस कथित खेमाबंदी में विपक्ष के तमाम बड़े नेता पहुंच चुके हैं। बतौर कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष सोनिया की कोशिश 2019 के लिए विपक्ष को लामबंद करने की है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव, बसपा सुप्रीमो मायावती, तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी ने अब तक शामिल होने पर सहमति नहीं दी है। हालांकि इन सभी ने अपने नुमाइंदे भेजने पर सहमति जरूर दे दी थी।

एक तीर से दो निशाना…
इस डिनर डिप्लोमेसी के जरिये सोनिया एक तीर से दो निशाना साधना चाहती हैं। पहला तो यह कि विपक्षी नेताओं को डिनर पर बुलाकर वह ये साबित करना चाहती हैं कि मोदी के विकल्प के तौर पर बनने वाले गठजोड़ का नेतृत्व कांग्रेस के पास ही होगा। दूसरा यह कि तीसरे मोर्चे की अगुवाई की कोशिश को तवज्जो नहीं देतीं। हालांकि कांग्रेस मानती है कि मोदी के खिलाफ सबको एकजुट होना ही पड़ेगा और ये पूरे विपक्ष की ज़िम्मेदारी है।

ये नेता हुए शामिल…
शरद यादव, बीएसपी के सतीश मिश्रा, आरएलडी के अजीत सिंह, टीएमसी के सुदीप बंदोपाध्याय, जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला, आरएसपी के एनके प्रेमचंद्रन, जेडीएस के उपेंद्र रेड्डी, केरल कांग्रेस के जोश के मनी, शरद पवार, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के जीतनराम मांझी, सपा के रामगोपाल यादव, डीएमके की तरफ से कनिमोई, वामपंथी दलों की ओर से मोहम्मद सलीम, डी राजा और जेवीएम के बाबूलाल मरांडी, मीसा भारती, तेजस्वी यादव, बदरुद्दीन अजमल, कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद।

इनको भेजा गया आमंत्रण…
कांग्रेस, सपा, बीएसपी, टीएमसी, सीपीएम, सीपीआई, डीएमके, जेएमएम, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा, आरजेडी, जेडीएस, केरल काँग्रेस, इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग, आरएसपी, एनसीपी, नेशनल कांफ्रेंस, एआईयूडीएफ, आरएलडी को न्यौता भेजा गया।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें…

Like this News, become a Newsinvestigator Reporter with a Click and make your voice heard.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Categories