CM योगी बोले, हस्तशिल्प के दम पर ही सोने की चिड़िया रहा है भारत, जाने क्या है सूरजकुंड मेला…

February, 2nd 2018 |POLITICS

CM योगी बोले, हस्तशिल्प के दम पर ही सोने की चिड़िया रहा है भारत, जाने क्या है सूरजकुंड मेला...

32वें सूरजकुंड इंटरनेशनल हस्तशिप मेले का उदघाटन करने के बाद सीएम योगी ने शुक्रवार को सूरजकुंड की चौपाल पर बतौर मुख्य अथिति उद्धघाटन समारोह को संबोधित किया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा की भारत हमेशा से हस्तशिल्प के दम पर ही सोने की चिड़िया रहा है। उन्होंने कहा की भारत के हर गांव में कोई ना कोई खास कला है, जिसको आज पहचान की जरूरत है। समारोह की अध्यक्षता हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने की।

कुम्भ के मेले में आएंगे 15 करोड़ श्रद्धालु…
यूपी के सीएम आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश का इतिहास काफी गौरवशाली है। उन्होंने कहा की वर्ष 2019 में लगने वाले कुम्भ मेले में करीब 15 करोड़ श्रद्धालु आएंगे। श्रद्धालुओं के लिए विशेष प्रबंध किया जाएंगे। उन्होंने कहा कि सामाजिक, धार्मिक, आर्थिक नजरिये से हरियाणा और उत्तर प्रदेश में काफी एकरूपता है।

‘एक जिला एक उत्पाद’ से मिलेगा हस्तशिल्प को बढ़ावा…
यूपी सीएम ने कहा कि यूपी में हस्तशिल्प को बढ़ावा देने के लिए एक जिला एक उत्पाद के आधार पर प्रोग्राम चलाए जाएंगे, ताकि शिल्पकारों को बढ़ावा दिया जा सके। उन्होंने कहा कि यूपी में हस्तशिल्प की प्रचीन विरासत है। मसलन, अलीगढ़ में ताला, फिरोजाबाद में कांच, बनारस में साड़ी, मुरादाबाद में पीतल, मेरठ में खेल का सामान आदि बनाया जाता है।

यूपी और हरियाणा के बीच परिवहन समझौता…
सूरजकुंड हस्तशिप मेले के शुभारंभ से पहले सूरजकुंड की होटल राजहंस में यूपी और हरियाणा के बीच रोडवेज परिवहन समझौता हुआ। जिसके चलते हरियाणा की बसे यूपी में 66 हजार किलोमीटर सालाना ओर यूपी की बसे हरियाणा में 50 हजार किलोमीटर चल सकेंगी।

सूरजकुंड में लगा है रंगों का महाकुम्भ…
महाकुंभ में इस वर्ष 1100 से ज्यादा शिल्पकारों को आमंत्रित किया गया है। पिछले वर्ष यह संख्या 1008 थी। इस बार 28 देश भागीदारी देंगे, जबकि पिछले वर्ष यह संख्या 23 थी। इस वर्ष 14 देशों के कलाकार सांस्कृतिक प्रस्तुतियां देंगे।

325 विदेशी भागीदारों में 82 हस्तशिल्पी शामिल हैं। दर्शक मेले में इस बार पर्यटक भारतीय और किर्गिस्तान के व्यंजनों का भी जायका ले पाएंगे। मेला 18 फरवरी तक चलेगा।

क्या है खास?
सूरजकुंड मेले में देश की संस्कृति और लोक कलाओं को देखने के अलावा शॉपिंग के भी कई सारे ऑप्शन होते हैं। यहां हैंडीक्राफ्ट्स और हैंडलूम की भरमार होती है। यह चीजें आपको बाहर मार्किट में मिलना मुश्किल है। इन्हें आप सस्ते दामों में खरीद सकते हैं। मेले में संगीत कार्यक्रम भी समय समय पर होते रहते हैं।

देशी के साथ विदेशी कलाकारों का होगा जलवा…
मेला में टर्की, मोरक्को, थाईलैंड, सीरिया, श्रीलंका, तंजानिया, नीगर, नेपाल, इजिप्ट, दक्षिण अफ्रीका, अफगानिस्तान, न्यूजीलैंड, मालदीव, मॉरीसस, यूगांडा, युक्रेन, बांग्लादेश, भूटान, तुर्कमेनिस्तान, उजबेकिस्तान, कजाकिस्तान, तजाकिस्तान, लेबनान, कीनिया, तनीषिया, मेडागासकर, रसिया के अंतरराष्ट्रीय लोक कलाकार प्रतिदिन चौपाल पर अपनी प्रस्तुति से रंग जमाएंगे। इनके अलावा पंजाब पुलिस समूह द्वारा भांगडा व गिद्दा, हरियाणवी डांस, काला जादू, बीन पार्टी व बंचारी का नगाड़ा पार्टी भी मेले का आकर्षण रहेगी।

ख़बरों से अपडेट रहने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें…

Like this News, become a Newsinvestigator Reporter with a Click and make your voice heard.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Categories